इस गैज़ेट में एक गड़बड़ी थी.

शनिवार, 12 मार्च 2011

जापान

जापान
टापुओं का एक समूह
थोड़ी सी ज़मीन
थोड़ी सी आबादी
लेकिन ढेर सारा दिमाग
ढेर सारी मेहनत
और इसलिए ढेर सारी समृद्धि

जापान
एक अद्वितीय उदहारण
तबाही से उबरने का
हिरोशिमा और नागासाकी
की आणविक बमबारी
जिसने समाप्त कर दिया था
जापान को
लेकिन जापान उठ खड़ा हुआ
एक योद्धा की तरह अपने पुनर्निर्माण में

जापान
एक बार फिर घिर गया है
तबाही की चपेट में
भूकंप से रोज खेलने वाला जापान
इस बार फंस गया
महा विध्वंसकारी भूकंप में
अभूतपूर्व जलजला !
और उस पर चढ़ आया
वो मृत्यु का सैलाब
सुनामी !
विध्वंस जारी है
आंकड़ों से तेज भाग रही है मौत
प्रत्यक्ष दर्शी है विश्व

शास्त्रों  में सुना है
प्रलय होती है
शायद ऐसी ही होती है
एक चेतावनी है ईश्वर की
संपूर्ण मानवता को 
कि अपनी सीमायें मत लाँघो

जापान 
फिर एक बार जुट जाओ 
पुनर्निर्माण में 
शक्तिशाली ही सह सकता है ऐसा घाव 
ईश्वर भी ये जानता है  



कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें